संप्रेषण के उद्देश्य- Sampreshan ke uddeshy

आजकल की जिंदगी में व्यक्ति तकनीकी तरीकों से जुड़ा हुआ है। संचार के क्षेत्र में हुई तेजीने तकनीकी उन्नति ने लोगों के जीवन को बदल दिया है। विभिन्न साधनों के माध्यम से लोग अपने विचारों, भावनाओं, अनुभवों और ज्ञान को दूसरों के साथ साझा कर सकते हैं। इसका मुख्य साधन है “संप्रेषण” जिसका उद्देश्य होता है संदेशों को पहुंचाना और साझा करना। इस लेख में, हम संप्रेषण के उद्देश्य के महत्व को विस्तार से समझेंगे और जानेंगे कि इसका समाज में क्या महत्व है।

संप्रेषण का परिचय

आदिकाल से ही संप्रेषण एक महत्वपूर्ण साधन रहा है। प्राचीन समय में लोग मुख द्वारा संदेश पहुंचाते थे और इसमें ताम्रपत्र एवं शिलालेखों का उपयोग होता था। धीरे-धीरे भाषा एवं संचार के साधन विकसित हुए और आजकल इंटरनेट, मोबाइल, ईमेल, वीडियो कॉलिंग, सोशल मीडिया, आदि के माध्यम से हम संदेशों को भेजने में सक्षम हो गए हैं।

संप्रेषण के महत्व

संप्रेषण का महत्व इसकी प्रभावशीलता में छिपा है। संदेशों के द्वारा हम जानकारी, सूचना, विचार, भावनाएं और कल्चर को साझा करते हैं। इससे समाज में समझदारी, सद्भाव, एकता और समरसता का विकास होता है। विज्ञान, शिक्षा, धर्म, राजनीति, कला, संस्कृति, आदि के क्षेत्र में संप्रेषण का उचित उपयोग समृद्धि का मार्ग बनता है।

संप्रेषण के उद्देश्य

  • जागरूकता फैलाना: संप्रेषण के माध्यम से जागरूकता फैलती है और लोगों को विभिन्न मुद्दों और समस्याओं के बारे में जानकारी मिलती है।
  • शिक्षा को प्रोत्साहित करना: शिक्षा संप्रेषण के द्वारा भी होती है, जैसे ऑनलाइन शिक्षा, ई-बुक्स, वीडियो व्याख्यान, आदि।
  • समाचार और वर्तमान घटनाएं साझा करना: संप्रेषण के जरिए हम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय समाचार और वर्तमान घटनाओं के बारे में जान सकते हैं।
  • समृद्धि को बढ़ावा देना: व्यापार, वित्त, नौकरी, और कृषि से जुड़े ज्ञान के माध्यम से लोग अपनी समृद्धि को बढ़ा सकते हैं।
  • सामाजिक परिवर्तन प्रोत्साहित करना: संप्रेषण से लोग सामाजिक परिवर्तन के लिए प्रेरित होते हैं और समस्याओं का समाधान निकालते हैं।

अनुसंधान और विकास में संप्रेषण का योगदान

अनुसंधान और विकास क्षेत्र में संप्रेषण का बड़ा योगदान है। वैज्ञानिक और अनुसंधानकर्ता अपने अनुसंधान और अध्ययन के फलस्वरूप ज्ञान को संप्रेषित करते हैं ताकि उसे आम लोगों तक पहुंचाया जा सके। यह नए उत्पादों और सेवाओं के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

संप्रेषण का भविष्य

भविष्य में संप्रेषण का महत्व और उपयोग और भी बढ़ जाएगा। तकनीकी तरीकों के साथ संप्रेषण का तरीका और भी अधिक सुविधाजनक बनेगा जिससे लोग अपने संदेशों को और भी तेजी से और अधिक व्यापक तरीके से पहुंचा सकेंगे।

निष्कर्ष

संप्रेषण के उद्देश्य भाषा, संस्कृति, शिक्षा, विज्ञान, और सामाजिक परिवर्तन को समृद्धि के रास्ते पर आगे बढ़ाते हैं। यह विभिन्न साधनों के माध्यम से लोगों को जोड़ता है और समृद्ध समाज का निर्माण करता है। संप्रेषण का महत्व भविष्य में भी और अधिक बढ़ जाएगा और तकनीकी उन्नतियों से इसका उपयोग और भी अधिक सरल और सुविधाजनक होगा।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. संप्रेषण क्या है?
    • संप्रेषण एक साधन है जिसका उद्देश्य संदेशों को साझा करना होता है।
  2. संप्रेषण का महत्व क्या है?
    • संप्रेषण से हम जानकारी, सूचना, विचार, भावनाएं और कल्चर को साझा करते हैं जिससे समाज में समझदारी, सद्भाव, एकता और समरसता का विकास होता है।
  3. संप्रेषण के क्या उद्देश्य हैं?
    • संप्रेषण के उद्देश्य जागरूकता फैलाना, शिक्षा को प्रोत्साहित करना, समाचार और वर्तमान घटनाएं साझा करना, समृद्धि को बढ़ावा देना, और सामाजिक परिवर्तन प्रोत्साहित करना होते हैं।
  4. संप्रेषण का भविष्य कैसा होगा?
    • भविष्य में संप्रेषण का महत्व और उपयोग और भी बढ़ जाएगा और तकनीकी उन्नतियों से इसका उपयोग और भी अधिक सरल और सुविधाजनक होगा।
  5. संप्रेषण का उपयोग किन-किन क्षेत्रों में होता है?
    • संप्रेषण का उपयोग भाषा, संस्कृति, शिक्षा, विज्ञान, और सामाजिक परिवर्तन के क्षेत्र में होता है।

Leave a Comment