लेजर क्या है- Laser kya hai

लेजर, विज्ञान और तकनीकी विश्व में एक रोचक शब्द है। लेकिन इसका मतलब और इसके अनेक उपयोग संबंधी जानकारी कितनी सटीक है? यह लेख “लेजर क्या है” पर विस्तृत चर्चा करेगा और इस प्रौद्योगिकी के विभिन्न पहलुओं को खोजेगा।

लेजर का अर्थ

लेजर एक संक्षेप्त शब्द है, जो “Light Amplification by Stimulated Emission of Radiation” को प्रतिनिधित्व करता है। यह एक विशेष प्रकार की विकिरण है जो विभिन्न तरीकों से उत्पन्न होता है। लेजर की प्रक्रिया में, एक प्रकाशित विकिरण को एक स्थितिबद्ध रासायनिक पदार्थ से बहुत तेजी से होकर बीज लगाया जाता है। इस प्रक्रिया में उत्पन्न होने वाले विकिरण की तीव्रता और सहजता के कारण, लेजर विभिन्न उपयोगों के लिए बहुत उपयुक्त होता है।

लेजर का इतिहास

लेजर का अविष्कार 20वीं सदी के दशक में हुआ था। इसकी पहली सफलता 1960 में थी, जब थ्योडीयम और रुबी से बनी एक लेजर डिवाइस बनाई गई थी। इसके बाद से लेजर का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में विस्तृत रूप से होने लगा है। लेजर का विकास इतनी तेजी से हुआ है कि आज यह विभिन्न उद्दीपकों, चिकित्सा उपचार, और सौर ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में उपयोग हो रहा है।

लेजर के विभिन्न प्रकार

लेजर विभिन्न प्रकारों में उपलब्ध होता है, और हर प्रकार अपने उद्देश्यों के अनुसार विभाजित होता है। यहां हम कुछ प्रमुख लेजर तकनीकों को देखेंगे:

सेमीकंडक्टर लेजर

यह लेजर तकनीकी उदाहरण के रूप में प्रयोग किया जाता है जो सेमीकंडक्टर से बना होता है। इसका उपयोग बिजली उत्पादन से लेकर इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों तक में होता है।

गैस लेजर

गैस लेजर, जैसे कि को2 (कार्बन डाईऑक्साइड) लेजर, विशाल दूरी से लेजर बीम के रूप में उपयोग होते हैं। इन्हें विज्ञान, नैदानिक रूप से चिकित्सा और इंजीनियरिंग क्षेत्र में उपयोग किया जाता है।

डाइओड लेजर

डाइओड लेजर एक छोटे आकार का लेजर बीम प्रदान करता है और आम तौर पर नक्षत्रों को निशाना बनाने में उपयोग होता है। इन्हें दूरबीन और प्रोजेक्टरों में भी इस्तेमाल किया जाता है।

लेजर के उपयोग

लेजर के विभिन्न तकनीकी उपयोगों के कारण, इसका उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में होता है। कुछ मुख्य लेजर उपयोगों के बारे में नीचे दिए गए हैं:

चिकित्सा में लेजर

लेजर चिकित्सा में उपयोग सबसे रोचक और उपयुक्त रूप से होता है। इससे आंतरिक और बाह्य रूप से अनेक रोगों के उपचार में मदद मिलती है। सर्जरी, दृष्टि सुधार, चर्म और सौंदर्य उपचार में लेजर तकनीक बहुत उपयुक्त है।

उद्दीपक

लेजर को उद्दीपक के रूप में भी उपयोग किया जाता है। उद्दीपक उपकरण लेजर बीम को संग्रहित करके उसे एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाते हैं। इससे विभिन्न उद्दीपकों में रोशनी का उपयोग किया जाता है।

लेजर के लाभ

लेजर के उपयोग से कई लाभ होते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

तेजी

लेजर बीम की तेजी के कारण, इसे विभिन्न चिकित्सा उपचारों में उपयोगी बनाता है। सर्जरी और दृष्टि सुधार में लेजर के फायदे अनमोल हैं।

अधिकतम प्रभाव

लेजर का उपयोग अधिकतम प्रभावशीलता के साथ होता है। इसके बीम का निशानांकन और उद्दीपकों में इसका प्रयोग इसे और भी उच्च और व्यावसायिक बनाता है।

निष्कर्ष

लेजर विज्ञान एक रोचक और महत्वपूर्ण विषय है, जो सबको जानने का योग्य है। इस प्रौद्योगिकी के नए और संवर्धित उपयोग निरंतर विकसित हो रहे हैं, और भविष्य में और भी बेहतर उपयोग संभव हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. क्या लेजर चिकित्सा में उपयोगी है?

हां, लेजर चिकित्सा में विभिन्न उपचारों में उपयोगी है। इससे सर्जरी, दृष्टि सुधार, चर्म और सौंदर्य उपचार किए जाते हैं।

2. लेजर का उपयोग उद्दीपकों में क्यों किया जाता है?

लेजर को उद्दीपक के रूप में उपयोग किया जाता है ताकि उसे एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाया जा सके और विभिन्न उद्दीपकों में रोशनी का उपयोग किया जा सके।

3. लेजर के उपयोग के क्या लाभ हैं?

लेजर के उपयोग से तेजी और अधिकतम प्रभावशीलता होती है। इसके फायदे सर्जरी और दृष्टि सुधार में अच्छे से प्रदर्शित होते हैं।

4. लेजर तकनीक का अविष्कार किसने किया था?

लेजर तकनीक का अविष्कार 20वीं सदी के दशक में हुआ था। पहली सफलता 1960 में थी, जब थ्योडीयम और रुबी से बनी एक लेजर डिवाइस बनाई गई थी।

5. लेजर का उपयोग किस-किस जगह पर होता है?

लेजर का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में होता है, जैसे कि चिकित्सा, उद्दीपकों, विज्ञान, सौर ऊर्जा, और नैदानिक रूप से अनेक क्षेत्रों में।

Leave a Comment