भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना- Bhartiya rashtriya congress ki sthapna

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, जिसे आमतौर पर “कांग्रेस पार्टी” के नाम से जाना जाता है, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की महत्वपूर्ण घटनाओं में से एक है। यह पार्टी ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की मार्गदर्शन की और देश को स्वतंत्रता प्राप्त कराने के लिए अपने सदस्यों के संघर्ष को नेतृत्व किया।

पहले चरण: स्वतंत्रता संग्राम की आवश्यकता

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की उत्पत्ति उस समय हुई जब भारतीय जनता में ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ एकता की आवश्यकता महसूस होने लगी। कांग्रेस की स्थापना 1885 में आइडन्स और विएल्स के द्वारा की गई थी, जिनका उद्देश्य भारतीय समाज को साम्राज्य के खिलाफ एकता में जोड़ना था।

दूसरे चरण: सत्याग्रह की शुरुआत

कांग्रेस ने महात्मा गांधी के नेतृत्व में सत्याग्रह के सिद्धांत को अपनाया, जिससे स्वतंत्रता संग्राम एक नया मोड़ लिया। गांधीजी ने अहिंसा और सत्य के माध्यम से ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ संघर्ष किया और जनसमर्थन प्राप्त किया।

तीसरे चरण: नेहरूवियन आदर्श

जवाहरलाल नेहरू ने कांग्रेस को एक नया दिशा-निर्देश दिया। उन्होंने आधुनिकीकरण, औद्योगिकीकरण, और विज्ञान में निवेश की ओर ध्यान दिलाया। इसके परिणामस्वरूप भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार हुआ और विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में नवाचार हुआ।

चौथे चरण: भारतीय स्वतंत्रता प्राप्ति

कांग्रेस ने अपने दीर्घकालिक संघर्ष के बाद भारतीय स्वतंत्रता प्राप्त की। 1947 में भारत ने ब्रिटिश साम्राज्य से आजादी हासिल की, और पाकिस्तान के अलगाव के साथ ही दो आधिकारिक राज्यों में विभाजित हुआ।

पांचवे चरण: वर्तमान समय में कांग्रेस

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस वर्तमान में एक प्रमुख राजनीतिक पार्टी है और भारतीय राजनीति के प्रमुख खिलाफी दलों में से एक है। यह पार्टी विभिन्न राज्यों में अपने संगठनों के माध्यम से अपने आदर्शों को फैलाती है और लोगों की आवाज को सुनती है।

निष्कर्ष

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक महत्वपूर्ण चरण की शुरुआत की थी, जिसने देश को आजादी दिलाने के लिए एकजुट किया। इस पार्टी ने नेतृत्व, संघर्ष, और नवाचार के माध्यम से भारतीय समाज को एक नया दिशा-निर्देश दिया और उसे विकास की ओर अग्रसर किया।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. कांग्रेस की स्थापना किसने की थी? कांग्रेस की स्थापना आइडन्स और विएल्स द्वारा 1885 में की गई थी।

2. कांग्रेस के उद्देश्य क्या थे? कांग्रेस का उद्देश्य भारतीय समाज को साम्राज्य के खिलाफ एकता में जोड़ना और स्वतंत्रता प्राप्ति के माध्यमों का समर्थन करना था।

3. महात्मा गांधी ने किस तरीके से स्वतंत्रता संग्राम को आगे बढ़ाया? महात्मा गांधी ने अहिंसा और सत्य के माध्यम से स्वतंत्रता संग्राम को आगे बढ़ाया और सत्याग्रह की आदर्शों का पालन किया।

4. कांग्रेस का वर्तमान स्थान क्या है? कांग्रेस वर्तमान में भारतीय राजनीति की प्रमुख पार्टियों में से एक है और यह विभिन्न राज्यों में अपने संगठनों के माध्यम से अपने आदर्शों को फैलाती है।

5. कांग्रेस के प्रमुख आदर्श क्या हैं? कांग्रेस के प्रमुख आदर्श भारतीय स्वतंत्रता, सामाजिक समानता, और विकास की ओर मार्गदर्शन करते हैं।

संयोजन

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महत्वपूर्ण चरण की शुरुआत की और देश को आजादी प्राप्त कराने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया। इसके प्रमुख नेतृत्व में कांग्रेस ने भारतीय समाज को एक नया दिशा-निर्देश दिया और उसे विकास की ओर अग्रसर किया। आज भी कांग्रेस देश की विभिन्न मुद्दों पर अपने आदर्शों के साथ खड़ी है और लोगों की आवाज को सुनने का प्रयास कर रही है।

Leave a Comment