प्लास्टिक क्या है- Plastic kya hai

आजकल हमारे जीवन में प्लास्टिक एक अभिशाप बन गया है। यह हमारे पर्यावरण के लिए खतरा पैदा करता है और साथ ही हमारे स्वास्थ्य पर भी बुरा असर डालता है। इस लेख में हम प्लास्टिक के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करेंगे, जैसे कि प्लास्टिक क्या है, इसके प्रकार, उपयोग, पर्यावरण और स्वास्थ्य पर इसका प्रभाव, तथा इससे बचने के उपाय।

प्लास्टिक का इतिहास

प्लास्टिक का उपयोग मनुष्य के जीवन में आने वाले बदलाव का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। यह प्राकृतिक संसाधनों को बचाने और विभिन्न उत्पादों के निर्माण में मदद करता है। प्लास्टिक की खोज उत्तरी अमेरिका के वैज्ञानिक लियो बैकलैंड ने 1907 ईसा पूर्व की थी। सिद्धांत में, प्लास्टिक एक पॉलिमर है, जो मूल रूप से पेट्रोलियम से बनता है।

प्लास्टिक के प्रकार

प्लास्टिक कई विभिन्न प्रकार का होता है, जिनमें से प्रत्येक का अपनी विशेषताएं और उपयोग होता है।

थर्मोप्लास्टिक

थर्मोप्लास्टिक प्लास्टिक उत्तेजना के प्रभाव से बदलने वाले प्लास्टिक होते हैं। इन्हें बहुत आसानी से गरम किया जा सकता है और उन्हें आकार देना भी आसान होता है। इसके उदाहरण हैं – पॉलिएथिलीन और पॉलिप्रोपिलीन।

थर्मोसेट

थर्मोसेट प्लास्टिक एक बार बनाए जाने पर उन्हें फिर से गरम करके आकार नहीं दिया जा सकता है। ये उच्च तापमान पर स्थिर रहते हैं और इसलिए विद्युत इलेक्ट्रॉनिक्स जैसे क्षेत्र में उपयोग होते हैं।

एलास्टोमर

एलास्टोमर प्लास्टिक धीमी तनावशीलता वाले होते हैं जो तापमान के परिवर्तन पर बदलते हैं। इन्हें उत्तेजित होने पर वे अपनी मूल रूप से स्थिति पर वापस आ जाते हैं। उदाहरण के लिए, रबर एक एलास्टोमर का उदाहरण है।

प्लास्टिक के उपयोग

प्लास्टिक के उपयोग कई विभिन्न क्षेत्रों में होते हैं। इसके प्रमुख उपयोग शामिल हैं – औद्योगिक उपयोग, घरेलू उपयोग, चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाएं में उपयोग।

प्लास्टिक के पर्यावरण पर प्रभाव

प्लास्टिक के अधिक उत्पादन का पर्यावरण पर बुरा प्रभाव होता है। इसके कचरे का प्रबंधन और प्लास्टिक प्रदूषण के दुष्प्रभावों से निपटने के लिए सकारात्मक कदम उठाने की जरूरत है।

प्लास्टिक के स्वास्थ्य पर प्रभाव

प्लास्टिक के उपयोग से कई स्वास्थ्य समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं, जैसे कि बिश्तरों और खाने के उपकरणों में पाए जाने वाले फ्थलेट्स।

प्लास्टिक के उपयोग से बचने के उपाय

प्लास्टिक के उपयोग से बचने के लिए हमें वैकल्पिक उत्पाद का उपयोग करना चाहिए, रीसायकलिंग को प्रोत्साहित करना चाहिए, और समुदाय के सहयोग से प्लास्टिक के उपयोग को कम करने का प्रयास करना चाहिए।

प्लास्टिक के बदलते परिप्रेक्ष्य

वैज्ञानिक और तकनीकी उन्नति के साथ, हमें प्लास्टिक के बदलते परिप्रेक्ष्य पर ध्यान देने की आवश्यकता है। हर समय नई और सुरक्षित प्रौद्योगिकियों के विकास के लिए कदम उठाने की जरूरत है ताकि पर्यावरण और स्वास्थ्य को हानि न हो।

निष्कर्ष

प्लास्टिक हमारे जीवन में महत्वपूर्ण है, लेकिन इसके बढ़ते उपयोग का पर्यावरण और स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव हो सकता है। हमें सकारात्मक कदम उठाने की आवश्यकता है, जैसे कि रीसायकलिंग को प्रोत्साहित करना, प्लास्टिक के अधिक उपयोग से बचना, और नई प्रौद्योगिकियों का उपयोग करना। हम सभी के साथ मिलकर एक प्रदूषणमुक्त और स्वस्थ वातावरण का निर्माण करने के लिए जिम्मेदार हैं।

पूछे जाने वाले पाँच अद्भुत सवाल

1. प्लास्टिक कैसे बनता है?

प्लास्टिक मूल रूप से पेट्रोलियम से बनता है। इसमें अलग-अलग केमिकल पदार्थों का मिश्रण किया जाता है ताकि उसकी विशेषता और उपयोग अनुकूल हो।

2. प्लास्टिक के बदलते परिप्रेक्ष्य पर ध्यान देने की क्या जरूरत है?

प्लास्टिक के बढ़ते उपयोग का पर्यावरण और स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव हो सकता है। हमें नई और सुरक्षित प्रौद्योगिकियों के विकास के लिए कदम उठाने की आवश्यकता है ताकि इसके नकारात्मक प्रभावों से बचा जा सके।

3. प्लास्टिक का उपयोग किस क्षेत्र में सबसे अधिक होता है?

प्लास्टिक का उपयोग औद्योगिक क्षेत्र में सबसे अधिक होता है, जैसे कि पैकेजिंग, कंटेनर्स, और सामग्री भंडारण के लिए।

4. प्लास्टिक के उपयोग से होने वाली स्वास्थ्य समस्याएं कौन-कौन सी हैं?

प्लास्टिक के उपयोग से होने वाली स्वास्थ्य समस्याएं में फ्थलेट्स का प्रभाव है, जो खाने के उपकरणों और बिश्तरों में पाए जाते हैं।

5. प्लास्टिक का उपयोग कम करने के लिए हमें क्या करना चाहिए?

प्लास्टिक के उपयोग कम करने के लिए हमें वैकल्पिक उत्पाद का उपयोग करना चाहिए, रीसायकलिंग को प्रोत्साहित करना चाहिए, और समुदाय के सहयोग से प्लास्टिक के उपयोग को कम करने का प्रयास करना चाहिए।

Leave a Comment